क्रिप्टोकरेंसी अब मनीलॉन्ड्रिंग के दायरे में, जाने इसका क्या असर पड़ेगा 

भारत में क्रिप्टो के ऊपर सरकार अपनी पकड़ को मज़बूत करती जा रही है 

जहां अभी तक क्रिप्टो पर 1% TDS तथा मुनाफे पाए 30% टैक्स का प्रावधान था 

वही अब क्रिप्टो को मनी लॉन्ड्रिंग के दायरे में ला दिया गया है 

जिसे परसो भारत के गज़ट के PMLA के अंदर लाने का letter जारी हो गया है 

PMLA एक्ट के तहत अब क्रिप्टो एक्सचेंज को हर निवेशक का KYC अनिवार्य हो गया है 

बिना KYC के लेनदेन पर एक्सचेंज को भारी जुर्माने के साथ साथ आर्थिक दंड भी लग सकते हैं  

इसके अलावा अब वित्त अधिकारी किसी भी एक्सचेंज की जांच करने के लिए स्वतंत्र हो जायेंगे 

सरकार की नज़र इस समय क्रिप्टो पर काफी अधिक लगी हुई है 

RBI ने इसे पहले से बैन करने की भारत सरकार से गुज़ारिश की थी 

क्रिप्टो जगत तथा निवेशक भी अब सरकार के इस फैसले से थोड़ा डरे हुए हैं। 

भारत में क्रिप्टो टैक्स कैसे जमा करना है , जानने के swipe up करें